बिटकॉइन क्या है ? | What Is Bitcoin in Hindi ? सरल हिंदी भाषा में जानें

Bitcoin Kya Hai ?

दोस्तों दुनिया के हर देश में Currency  होती है | जिसका इस्तेमाल सामान खरीदने के लिए किया जाता है | हर देश की करंसी अलग होती है ,और उसका अपना नाम और Value  भी देश के हिसाब से ही रखा जाता है |

जैसे भारत में लेनदेन के लिए जिस Currencyका Use होता है उसे रुपया कहते हैं |अमेरिका की करेंसी Dollar होती है और Uk की करेंसी Pound होती है |  उसी तरह अलग-अलग देश की Currency  अलग-अलग होती है |

इसी तरह Internet में भी एक Currency होती है जिसका इस्तेमाल Online Transaction  के लिए किया जाता है | उसका नाम है Bitcoin, इसके बारे में तो आपने जरूर सुना होगा |

क्योंकि पिछले कई सालों से Bitcoin काफी चर्चा में है | आज हम आपको Bitcoin  के बारे में बताने वाले हैं कि यह होता क्या है ? इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है  ? और क्यों किया जाता है ?  और इसकी Value  कितनी होती है ?

Bitcoin के बारे में पूरी जानकारी हासिल करने के लिए इस Article को पढना होगा | 

Bitcoin  क्या है?

Bitcoin एक Virtual Currency है | इससे Digital Currency भी कहा जा सकता है | क्योंकि इसे Digital तरीके से उपयोग किया जाता है | Bitcoin  को Virtual Currency इसलिए कहा जाता है | क्योंकि की बा की Currency से बिल्कुल अलग है बाकी Currency जैसे Dollar और Rupee  की तरह ना ही हम देख सकते हैं और ना ही हम उसे  छू सकते हैं | लेकिन फिर भी हम इसका इस्तेमाल पैसों की तरह ही लेन  दिन में करते हैं | Bitcoin  को हम सिर्फ Online  Wallet  में Store कर सकते है | 

बिटकॉइन का इतिहास :

Bitcoin  का अबिष्कार Satoshi  Nakamoto ने साल 2008 में किया था | और 2009 में  Global Payment  के रूप में इसे जारी किया गया था | और तब से ही इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही हैं  | 

Bitcoin एक Decentralized Currency  है  | इसका मतलब यह है कि इसे Control करने के लिए कोई भी Bank या Goverment Authority नहीं है |  यानी कि कोई इसका मालिक नहीं है | 

बिटकॉइन का इस्तेमाल कैसे किया जाता है :

Bitcoin का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है | जैसे हम सब Internet  का इस्तेमाल करते हैं | और उसका भी कोई मालिक नहीं है | ठीक उसी तरह Bitcoin भी है | 

जिसके पास Bitcoin  होता है | वह उसे भौतिक रूप से चीजों की खरीदारी नहीं कर सकता ,बल्कि Bitcoin  की  उपयोग Online ही किया जा सकता है | 

Online भुगतान के अलावा, इसको दूसरे  Currency में भी बदला जा सकता है | अगर आपके पास Bitcoin है तो आप इसे अपने Country  Currency  में बदल कर  Bank  Account  मे Transfor कर सकते हैं | 

Bitcoin  दुनिया की सबसे महंगी Currency बनगयी  है | Computer Network के जरिये इस Currency बिना किसी माद्यम से Transactio  किया जा सकता है | 

वहीं इस Digital Currency  को Digital Wallet में रखा जा सकता है |  Bitcoin  को Crypto Currency भी कहा जाता है | साधारण Currency की तरह Bitcoin  को भी आसानी से खर्च किया जा सकता है | 

इसका इस्तेमाल आप सामान खरीदने के लिए, कुछ गैर सरकारी संगठनों को दान करने या उन्हें किसी और को भेजने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं | Bitcoin  को किसी संस्था द्वारा नियंत्रित नहीं किया जा सकता है |  

जिसका अर्थ है कि इसके ऊपर सरकार या बैंक का कोई अधिकार नहीं है |  इनका उपयोग या खरीदारी किसी के द्वारा भी की जा सकती है | क्योंकि Bitcoin की  व्यापार को  रुका नहीं जा सकता है | 

इसलिए कोई भी बैंक या सरकारी संस्था  Internet  द्वारा किसी और को Bitcoin 

 भेजने से नहीं रोक सकती | लेकिन इसमें एक दुविधा यह भी है कि यदि आपके साथ कोई धोखा होता है तो आप किसी के पास इसके बारे में शिकायत दर्ज नहीं सकते हैं | 

फिर भी दुनिया भर के बड़े Bussines Man  और कई बड़ी कंपनियां इस Currency का इस्तेमाल करती है | 

अब हम जानते हैं कि Bitcoin  का इस्तमाल  कहां और क्यों किया जाता है ? Bitcoin  का इस्तमाल हम Online Payment  करने के लिए यह किसी भी तरह Transaction  करने के लिए कर सकते हैं | 

Bitcoin P2p  Network  पर  आधारित है | जिसका मतलब है कि लोग एक दूसरे के साथ बिना किसी कंपनी के माध्यम से आसानी से Transaction कर सकते है | 

आम Credit Card या Debit Card भुगतान करने में लगभग 2-3% लेनदेन Charges  लगता है | लेकिन Bitcoin मे ऐसा कुछ नहीं होता | इसके लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगती | 

किसी अन्य Credit card  की तरह उसमें कोई Credit limit नहीं होती ,नहीं कोई नगद लेकर घूमने की समस्या है | यह एकदम सुरक्षित और तेज है |  और यह दुनिया में कहीं भी कारगर है |  और इसके इस्तेमाल करने की कोई सीमा भी नहीं है |  जानते हैं Bitcoin  कि क्या Value (what is the value of a Bitcoin ?) है | 

Bitcoin  का value  कम यहा ज्यादा होती रहती है | क्योंकि इस को Control  करने के लिए कोई नहीं है | 
इसलिए इसकी Value इसके  Demand  के हिसाब से बदलती रहती है |  इसलिए कीमत हर देश में अलग-अलग होती है | क्योंकि इसका चलन विश्व बाजार में है |  इसलिए हर देश में इसकी कीमत  मांग के अनुसार होती है  | 

आपके दिमाग में कहीं न कहीं यह सवाल जरूर उठ रा  होगा कि आखिर Bitcoin को पाया  कैसे जा सकता है |  इसके लिए क्या करना होगा ?  जिससे कि आपके पास Bitcoin आ जाए। 


तो इसका भी जवाब हम आपको बता देते हैं | Bitcoin  को हम तो तरीके से पा सकते हैं | पहला तरीका यह है कि ,अगर आपके पास पैसा है तो आप सीधे पैसा देकर खरीद सकते है | 

अगर आपके पास इतने पैसे नहीं है | मगर फिर भी आपको coin लेना है तो इसका भी एक तरीका है | अगर आप पूरा एक Bitcoin  खरीद नहीं सकते , तो आप उस का सबसे छोटा सा unit  Santoshi खरीद सकते हैं | जैसे 1  रुपए में 100  पैसे होते हैं | ठीक उसी तरह एक Bitcoin  में 10 करोड़ Santoshi होते हैं  | तो आप चाहे तो Bitcoin  के सबसे छोटी रकम Santoshi खरीदकर धीरे-धीरे उसे ज्यादा Bitcoin  जमा कर सकते हैं | 

एक तरह से   Bitcoin  खरीदकर इस में Invest  कर सकते और बेच सकते हैं | भारत में तो बहुत ही मशहूर Bitcoin Website  है | Website  का नाम है Https://zebpay.com/in/ और Https://unocoin.com/ इन दोनों Website  से बिटकॉइन  खरीद सकते है | 

Bitcoin  खरीद ने के लिए आपको इन Website में  आपका अकाउंट  बनाना  होगा  | उसके बाद आपको अपने कुछ Documents Submit करने होंगे  | जैसे :  Aadhar Card,  Pan Card,voter ID ,Phone Number ,Email ,Bank  Account  Details . | 

Account  बनाने के बाद आप Bitcoin  खरीद और भेज सकते हैं |  Bitcoin पाने का दूसरा तरीका है Bitcoin Mining |  आम भाषा में Mining  का मतलब यह होता है कि खुदाई के द्वारा खनिजों को निकाला | जैसेकि  सोना कोयला आदि की Mining  

Physical रूप  नहीं है |  तो इसकी माइनिंग नहीं की जा सकती इसीलिए यहां पर माइनिंग का मतलब बिटकॉइन का निर्माण करने से है | जो कि कंप्यूटर पर ही संभव है |  अर्थात नई बिटकॉइन बनाने के तरीकों को बिटकॉइन माइनिंग कहा जाता है | 

Bitcoin कि माइनिंग बिटकॉइन  Bitcoin miner  करते हैं  | इसके high speed processor और Computer  और mining software की जरूरत होती है | हम Bitcoin  का इस्तमाल  सिर्फ online payment  करने के लिए करते हैं | 

और जब कोई  payment करता है तो उस  transaction को verify  किया जाता है | जो इन्हें verify करते हैं  | उन्हें  हम miner कहते हैं | और उनके पास कंप्यूटर और बेहतर Hardware होता है  | जिसके जरिए transaction को verify  करते हैं | 

Miner विशेष प्रकार का Computer  Use  करके विभिन्न तरीकों से लेनदेन को पूरा करते है  और Network  को सुरक्षित करते है | इस Verification के बदले उन्हें कुछ Bitcoin इनाम के तौर पर मिलते हैं | 

इस तरीके से नई  Bitcoin मार्केट में आते हैं | लेकिन Transaction वेरीफाई  करना इतना आसान नहीं होता,इसमें  बहुत सारे Mathematical Calculations होते  हैं और Solve करना होता है , जो की बहुत कठिन होता है |  

Bitcoin Mining कोई भी कर सकता है | इसके लिए High Speed Processor  Computer की  जरूरत पड़ती है  | Mining का काम वही लोग करते हैं जिसके पास विशेष कैलकुलेशन करने वाले Computer और बड़े-बड़े Calculation की क्षमता होती है | 

भारत में भारतीय रिजर्व बैंक लोगो को इस करेंसी में निवेश करने से रोक रहा है | और पहले से ही इसमें किसी भी प्रकार के निवेश को कानूनी बताया गया है |  लेकिन फिर भी लोग बड़ी संख्या में निवेश कर रहे हैं  | 

Indian Reserve Bank ने 24 दिसंबर 2013  को Bitcoin  जैसी Virtual Currency  के संबंध में कहा था की इन मुद्राओं के लेनदेन को कोई आधिकारिक अनुमति नहीं दी गई है | और इसका लेनदेन करने में कई स्तर पर जोखिम भी है | 1 फरवरी 2017 और 5 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक ने उन्हें इसके बारे में सावधानी जारी की थी |



Leave a Comment