शब्द विचार | Shabd Vichar in Hindi

शब्द विचार 

हिन्दी में शब्द का निर्माण कई तरह से होता है। इनमें मुख्य साधन हैं- उपसर्ग, प्रत्यय, सन्धि, समास और आवृत्ति । इसी प्रकार संज्ञा शब्द से विशेषण, विशेषण से संज्ञा, क्रिया से क्रियार्थक संज्ञा, धातु से संज्ञा और विशेषण की रचना भी संभव होती है। आगे इन पर विचार किया जा रहा है ।

सार्थक ध्वनियों या ध्वनिसमूह को ‘शब्द’ कहते हैं। स्रोत के आधार पर हिन्दी का शब्द भण्डार चार प्रकार के शब्दों से भरा है – 

(i) तत्सम (ii) तद्भव (ii) देशज (iv) विदेशी ।

तत्सम शब्द के कहते हैं | Tatsam Shabd Kise Kahate Hain

(i) तत्सम शब्द (Tatsam Shabd) : ‘तत्सम’ का अर्थ है उसके समान अर्थात् संस्कृत के समान संस्कृ के जो शब्द हिंदी में ज्यों-वे-त्यों प्रयुक्त होते हैं, उन्हें, ‘तत्सम शब्द’ कहा जाता है | 

जैसे (Examples ):-

अंधकार, अग्नि, अर्द्ध, अष्ट, अश्रु, आश्चर्य, उज्ज्वल, एकत्र, ओष्ठ, कर्ण, काष्ठ, कूप, क्षेत्र, ग्राम, चूर्ण, जिह्वा, ज्येष्ठ, दन्त, दुग्ध, मयूर, रात्रि, वायु, व्याघ्र, सर्प, हस्त आदि । 

तद्भव शब्द किस कहते हैं | Tadbhav Shabd Kise Kahate Hain

(ii) तद्भव शब्द (Tadbhav Shabd) : ‘तत्’ और ‘भव’ के योग से ‘तद्भव’ बना है। अर्थात् उ संस्कृत से उत्पन्न । संस्कृत के जो शब्द पालि, प्राकृत, अपभ्रंश आदि भाषाओं से होते हुए कुछ परिवर्तनों के साथ हिंदी में आए हैं, उन्हें ‘तद्भव शब्द’ कहते हैं । 

जैसे (Examples):-

अंधेरा, आग, आधा, आठ, आँसू, अचरज, उजला, इकट्ठा, ओंठ, कान, – काठ, कुआँ, खेत, गाँव, चूरा, जीभ, जेठ, दाँत, दूध, मोर, रात, बयार, बाघ, साँप, हाथ आदि । 

(iii) देशज शब्द (Deshaj Shabd): अपने देश के ग्रामीण क्षेत्रों और जनजातियों में व्यवहृत शब्द देशज कहलाते हैं। इनमें आदिवासी भाषाओं, द्रविड़ भाषाओं तथा हिन्दी के अपने ढंग से बनाए गए शब्द होते हैं; जैसे 

(क) कोल, संथाल आदि भाषाओं से आर्य शब्द – कदली (केला), कपास, कोड़ी, गज (हाथी), टींडा, तोरी, ताम्बूल, परबल, बाजरा, भिंडी, मिर्च, सरसों ।

      (ख) द्रविड़ भाषाओं से आए शब्द -ऊखल कज्जल (काजल), काच, कुटी, कुंड, कुदाल, केतकी, कोण, घुण, चिकना, चंदन, चूड़ी, ताला, दंड, नीर, पिंड, बल, माला, मीन, मुकुट, शव । 

       (ग) हिंदी के अपने बनाए गए शब्द – अंडबंड, ऊटपटांग, कड़क, किलकारी, खचाखच, खटपट, खर्राटा, खलबली, गड़गड़ाहट, चटपटा, चाट, चिड़चिड़ा, चुटकी, छिछला, झंकार, टुच्चा, धमक, पटाखा, पापड़, भभक, भोंपू, मुस्टंडा, कटकटाना, खटखटाना, खुरचना, घुड़कना, सनसनाना, हिनहिनाना |

(iv) विदेशी शब्द : ये बाहर के देश की भाषाओं के शब्द हैं। ऐसे शब्द विशेष रूप से अरबी, फारसी, तुर्की, अंग्रेजी भाषाओं से हिन्दी में आए हैं। जैसे –

        (क) अरबी शब्द – अल्लाह, अदालत, इम्तिहान, इरादा, ईद, औरत, किताब, जिला, तहसील, तारीख, बुनियाद, मजहब, मुकदमा, साफ, सिफारिश हलवाई । 

        (ख) फारसी शब्द- अगर, आराम, आफत, आमदनी, आवारा आसमान, आईना, कारीगर, कुरता, खुश, गंदा, गवाह, चालाक, जलेबी, जुलाहा, जुकाम, तेज़, दफ्तर, दर्जी, बरामदा, बुखार, बुलबुल, बेकार, मकान, मज़दूरी मुश्किल, मेहनत, समोसा, साल । 

        (ग) तुर्की शब्द- उर्दू, काबू, कूच, कुली, कैंची, खंजर, गलीचा, चाकू, चेचक, चम्मच, तोप, दरोगा, बहादुर, बारूद, बेगम, लाश, सराय । 

        (घ) पुर्तगाली शब्द- अनायास, आलमारी, आलपीन, कोको, कमीज, गमला, गोभी, गिरजा, चाभी, तौलिया, नीलाम, पपीता, पावरोटी, पेड़ा, पादरी, फालतू, बाल्टी, मेज | 

        (ङ) अंग्रेजी शब्द – अपील, अस्पताल, ऑफीसर, ऑपरेशन, इंजन, कप, कलक्टर, कॉपी, कॉलेज, केक, कोट, कोर्ट, चाकलेट, जग, जज, जंपर, टैक्स, टॉफी, टोस्ट, ट्रेन, डॉक्टर, ड्रेन, नर्स, पेन्शन, पेन, पेंसिल, पेंटर, पैंट, प्लेट, प्लेटफॉर्म, ब्लाउज, बैग, बूट, बिस्कुट, बैटरी, बस, मोटर, माचिस, मजिस्ट्रेट, लाइब्रेरी, लैंप, वोट, वार्ड, स्कूल, स्टेशन, हैट |

● अर्थ के आधार पर शब्द

हिन्दी का शब्द भण्डार निम्न प्रकारों का है –

(i) अनेकार्थी शब्द (ii) समानार्थी (पर्यायवाची) शब्द (iii) विलोम या विपरीतार्थक शब्द (iv) भिन्नार्थक शब्द (v) अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (vi) सूक्ष्म अर्थ भेदवाले शब्द । इनके कुछ उदाहरण दिए जा रहे हैं-

(i )अनेकार्थी शब्द | Anekarthi Shabd in Hindi

शब्दअनेक अर्थशब्दअनेक अर्थ
अंगअवयव, भागअंबरआकाश, कपड़ा
अक्षरवर्ण, ब्रह्म, नित्यअकालदुर्भिक्ष असमय
अपेक्षाआशा, बनिस्बतआमएक फल, सामान्य
करहाथ, किरण, टैक्सकुलवंश, सब
गुरुआचार्य / शिक्षक, भारीगोलीऔषधि, बंदूक की गोली
जड़मूल, मूर्ख, अचेतनजीवनजल, प्राण
दलमण्डली, पंखुड़ीपक्षपंख, पन्द्रह दिन, ओर
पत्रचिट्ठी, पत्तापदपैर, उपाधि , कबिता का पद
पयदूध, पानीपृष्ठपीठ ,पन्ना
पानीजल, इज्जत, चमकभूतभूतकाल, प्रेत, प्राणी
वर्णअक्षर, जाति, रंगसरसिर, तालाब
हारफूलों का हार, पराजयफलपेड़ का फल, नतीजा / परिणाम
हलखेती करने का हल, समाधान

(ii) समानार्थी शब्द | Samanarthi Shabd

Example of Samanarthi Shabd in Hindi :-

अग्नि -आग, पावक, हुताशन, अनल

अंधकार -अंधेरा, तिमिर, तम, अंधियारा

अमृत – आमिय, सुधा, पीयूष

असुर – दनुज, दानव, दैत्य, निशाचर, राक्षस

आँख – चक्षु, दृग, नयन, नेत्र, लोचन

आकाश – अम्बर, आसमान, गगन, व्योम, नभ, अन्तरिक्ष

कपड़ा – चीर, वसन, दुकूल, पट

कमल – पंकज, जलज, अरविंद, कमल, पद्म, सरोज

किनारा – कगार, तट, तीर

गणेश – गजानन, गणपति, लम्बोदर, विनायक

गर्व – अभिमान, अहंकार, घमण्ड, दंभ

घर – आलय, गृह, भवन, निलय, सदन

घोड़ा – अश्व, घोटक, तुरंग, बाजि हय

चन्द्रमा – इंदु, चन्द्र, चाँद, निशाकर, शशांक, शशि, सुधाकर

चतुर – कुशल, दक्ष, निपुण, पटु, प्रवीण

जल – अम्बु ,उदक ,तिय,नीर ,पानी ,वरि ,सलिल ,पाय

दिन – दिवस, दिवा, वासर

देह – काया, तन, शरीर, वदन

ध्वजा – केतु, पताका, झण्डा, निशान

नदी – सरिता, तटिनी, तरंगिणी

नाव – नौका, तरणी

पक्षी – खग ,चिड़िया ,विहंग ,विहग

पत्नी – अर्धांगिनी, दारा, भार्या, सहध

पत्थर – पाषाण ,प्रस्तर,उपल

पवन – मरुत, वायु, समीर, हवा

पर्वत – गिरि, नग, पहाड़, शैल

पृथ्वी -अवनि, धरा, धरती, भू, भूमि, वसुधा, वसुंधरा

बगीचा – उद्यान, उपवन, वाटिका, फुलवाड़ी

बन्दर – कपि, वानर, मर्कट

बादल -घन, जलद, जलधर, नीरद, मेघ, पयोद, वारिद

बिजली – चपला, तड़ित, दामिनी, सौदामिनी

भौंरा – अलि, भ्रमर, मधुकर, मधुप

मछली – मीन, मत्स्य, इस

मनुष्य – आदमी, इंसान, मनुज, मानव, व्यक्ति

महादेव – त्रिलोचन, महेश्वर, शंकर, शंभु, शिव, हर

मित्र – दोस्त, बंधु, सखा, साथी, सुहृद, स्वजन

माता – माँ, अम्बा, जननी, धात्री

राजा – नरपति, नरेश, नरेन्द्र, नृप, भूप, भूपाल, सम्राट

रात -यामिनी, रजनी, रात्रि, विभावरी

वन – अरण्य, कानन, जंगल, विपिन

बिष्णु – हरि, केशव, नारायण, चतुर्भुज तरु,

वृक्ष – तरु,द्रुम, पादप, पेड़

शत्रु -अरि, दुश्मन, रिपु, वैरी

संसार – जग, जगत, भव, लोक, विश्व

समुद्र – रत्नाकर, वारिधि, सागर, सिंधु

सर्प – अहि, नाग, उरग, भुजंग, फणी, साँप, विषधर

स्त्री – औरत, अबला, नारी, महिला, वनिता, वामा

सुगंध – खुशबू, महक, सौरभ, सुरभि

सूर्य – आदित्य, दिनकर, भानु, भास्कर, रवि, दिवाकर, अर्क

सोना – कनक, कुन्दन, स्वर्ण,

हाथी – करि, गज, नाग, हस्ती, मतंग

विपरीतार्थक या विलोम शब्द | Vipritarthak Shabd /Vilom Shabd

शब्दविलोमशब्दशब्दविलोमशब्द
आस्तिकनास्तिकसभ्यनिर्भय
इच्छाअनिच्छायशअपयश
कसूरबेकसूरयोगवियोग
कानूनगैरकानूनरहमबेरहम
गुणअवगुणरुचिअरुचि
चालकुचालसत्यअसत्य
जयपराजयसमविषम
छलनिशछलस्वस्थअस्वस्थ
पक्षविपक्षहाजिरगैरहाजिर
सुपात्रकुपात्रहिंसाअहिंसा

उपसर्गों के परिवर्तन से बननेवाले विलोम शब्द :

शब्दविलोमशब्दशब्दविलोमशब्द
अनुकूलप्रतिकूलकडुवामीठा
अपमानसम्मानसंयोगवियोग
अवनतिउन्नतिसजीवनिर्जीव
आदानप्रदानसज्जनदुर्जन
खुशबूबदबूसदयनिर्दय
दुराचारीसदाचारीसदाचारदुराचार
निरक्षरसाक्षरसरसनीरस
परतंत्रस्वतंत्रसुकर्मकुकर्म / दुष्कर्म
विपत्तिसंपत्तिसुगंधदुर्गध
ऊपरनीचेसुमतिकुमति
आगेपीछेसुमार्गकुमार्ग
अंधकारप्रकाशसुलभदुर्लभ
सूखागीलास्वाधीनपराधीन

भिन्न शब्दों के प्रयोग से बननेवाले विलोम शब्द:-

शब्दविलोमशब्दशब्दविलोमशब्द
अच्छाईबुराईठण्डागर्म
अल्पायुदीर्घायुथोड़ाबहुत
अन्दरबाहरदक्षिणउत्तर
उत्तमअधमदरिद्रधनी
उदयअस्तदुःखसुख
उदारअनुदार / कृपणदेवदानव
ऊँचानीचादोषगुण
एड़ीचोटीनफानुकसान
ऐच्छिकअनिवार्यनवीनप्राचीन
कच्चापक्कानिकासप्रवेश
कठिनसरलनिर्यातआयात
कठोरकोमलपापपुण्य
खराखोटाबाढ़सूखा
खराबअच्छाभावीभूत
गन्दासाफभिन्नअभिन्न
गरीबीअमीरीलाभहानि
गलतसहीविधिनिषेध
छाँहधूपसीधाटेढ़ा
जंगमस्थावरहारजीत
जड़चेतन

(iv) भिन्नार्थक शब्द | Bhinnarthak Shabd

प्रायः एक शब्द को थोड़े भिन्न हिज्जे में लिखने से उनमें अर्थ का अन्तर हो जाता है। ऐसे शब्दों की एक सूची नीचे दी जा रही है-

शब्दअर्थशब्दअर्थ
अगमदुर्गमआकरभण्डार
आगमशास्त्रआकाररूप ,ढाँचा
अचलपर्वतआदिबगैरह
अचलापृथ्वीआदीअभ्यस्त
अनलआगआवासरहने का स्थान
अनिलहवाआभासझलक
अन्नअनाजइत्रसुगंधित द्रव
अन्यदूसराइतरभिन्न
अपेक्षाआशा, तुलना मेंउधारऋण
उपेक्षानिरादरउद्धारछुटकारा
अमितबहुतउन‘ वह ‘ का विकारी रूप
अमीतशत्रुऊनन्यून / भेड़ के बाल
अलिसखीउपलपत्थर
अलीसमयउपलागोबर का कण्डा
अवधिएक भाषाकर्णकान / त्रिभुज का कर्ण
अवधीसहाराकरणसाधन, एक कारक
अवलम्बशीघ्रकलिकलियुग
अविलम्बलाचारकलीअधखिला फूल
अवशजरूरकांतिचमक
अवश्यभोजनक्रांतिविद्रोह, परिवर्तन
अशनभोजनजगतसंसार
आसनबैठने का आधारजगतकुएँ का चबूतरा
शब्दअर्थशब्दअर्थ
कोरकिनाराजराबुढ़ापा
कौरग्रासज़राथोड़ा
कुलवंशजलदबादल
कूलकिनाराजलजकमल
कृतिरचनातरंगलहर
कृतीनिपुणतुरंगघोड़ा
कृपाणकटारतरणिसूर्य
कृपणकंजूसतरणीनाव
कृष्णकाला / श्रीकृष्णतीसतीस की संख्या
कृष्णाद्रौपदीटीसकसक/ पीड़ा
कोशशब्दकोशदारुलकड़ी
कोषखजानादारूशराब
क्षत्रक्षत्रियदिनदिवस
छत्रछातादीनगरीब
खिलपरती जमीनद्विपहाथी
खीललावाद्वीपटापू (पानी के बीच)
चिताशव जलाने की चितादियादेना क्रिया का रूप
चीताएक जंगली जानवरदीयादीपक
चिरसदाधुलधुलना क्रिया का रूप
चीरकपड़ाधूलरज
चुनाचुना हुआनियतनिश्चित
चूनासीप से प्रयुक्त क्षारनीयतस्वभाव / इरादा
चेनजंजीरनीरजकमल
चैनआरामनीरदबादल
शब्दअर्थशब्दअर्थ
निशानचिह्नफाकाअनाहार
निसानझण्डाफाँकाफाँकने की क्रिया
नेतिन इति, जिसका अंत नहीं हैफलाँअमुक
नेतीमथानी की रस्सीफलाँगछलाँग
परिच्छदपोषाकबदनशरीर
परिच्छेदअध्यायवदनमुख
परिमाणमात्राबन‘ बनना ‘ क्रिया का रूप
परिणामनतीजावनजंगल
पवनवायुबहनभगिनी
पावनपवित्रवहनढोना
पानीजलबातवचन
पाणिहाथवतहवा
पाशबंधनबारदफा
पासनजदीकवारचोट, सप्ताह के वार । (सोम, मंगल आदि)
प्रवाहबहावबारिशवर्षा
परवाहचिन्तावारिशसमुद्र
प्रसादकृपाबोनाबिखेरना
प्रासादमहलबौनाछोटा, ठिगने कद का
प्रहारआघातभिड़बरें
परिहारत्यागभीड़समूह
पिताबापमिल‘ मिलना ‘ क्रिया का रूप
पीता‘ पी ‘ धातु / क्रिया का
रूप
मीलरास्ते का नाप
फुटनापने की इकाईहँसीहँसने की क्रिया
फूटबैर, एक फलहंसीमादा हंस (एक पक्षी)
शब्दअर्थशब्दअर्थ
मेलमिलनशत्रुदुश्मन
मैलमल, गन्दगीसत्रवर्ष, निश्चित समय
मोरमयूर पक्षीशरबाण
मौरमुकुटसरसिर, तालाब
रगनसशस्त्रहथियार
रंगवर्णशास्त्रसिद्धांत ग्रन्थ
राजशासनशालाघर
राजरहस्यसालापत्नी का भाई
लक्षलाखशुल्कफीस, टैक्स
लक्ष्यउद्देश्यशुक्लसफेद, उज्ज्वल
विशकमल का डण्ठलशीशाकाँच
विषज़हरसीसाएक धातु
विषमयज़हरीलाशुकरसूअर (एक जानवर)
विस्मयआश्चर्यसुकरआसानी से होनेवाला
शंकरशिवसूरसूर्य
संकरमिश्रितसुरदेवता
शीलचरित्रसमानबराबर, तरह
शिलशिलासामानसामग्री
शिवाशिव की पत्नी पार्वतीसासपति या पत्नी की माँ
शीवाअजगरसाँसनाक से हवा लेना छोड़ना
शोकमन की पीड़ासुतबेटा
शौकव्यसनसूतधागा, सारथी
शुचिपवित्रसुधिस्मरण
सूचीसूई, विषयक्रमसुधीविद्वान
सुखआनन्दहरिविष्णु
सूखाअकालहरीहरे रंग की
सेरएक तौलहल्एक मात्रा
सैरभ्रमण, घूमनाहलखेत जोतने का औजार

(v) अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

अनेक शब्दों मेंएक शब्द
पहले जन्म लेनेवालाअग्रज
जिसके समान कोई दूसरा न होअद्वितीय
जिसे टाला न जा सकेअनिवार्य
जो पढ़ा-लिखा न होअनपढ़
जिसके माता-पिता न होंअनाथ
पीछे / बाद में जन्म लेनेवालाअनुज
जिसकी उपमा न होअनुपम
जो कभी नहीं मरताअमर
जिसका वर्णन न किया जा सकेअवर्णनीय
जो अवश्य होअवश्यम्भावी
जिसका विश्वास न किया जा सकेअविश्वसनीय
जो ईश्वर को मानता होआस्तिक
जो बाद में पाने का अधिकारी बनेउत्तराधिकारी
जो काम से जी चुराता होकामचोर
जो किए गए उपकार को मानेकृतज्ञ
जो किए गए उपकार को न मानेकृतघ्न
गुप्त रखने योग्यगोपनीय
घर से संबंधितघरेलू
दूसरे की निंदा करनेवालानिन्दक

(vi) ध्वनिबोधक शब्द | Dhwani Bodhak Shabd

(क) प्राणियों की ध्वनि के आधार पर

प्राणीध्वनिप्राणीध्वनि
कौआकाँव काँव करनाहाथीचिंघाड़ना
बंदरकिकियानाचूहाचूँ चूँ करना
मुर्गाकुकडू कूँ करनाझींगुरझंकारना
मोरकुहकना/ केंकनामेंढ़कटर्र टर्र करना
कोयलकूकनातोताटें-टें करना
हंसकूजनासाँड़डकारना
भालूखों-खों करनाशेरदहाड़ना
भौंरागुंजारनापपीहापी-पी करना
कबूतरगुटर गूँ करनासाँपफुफकारना
बाघगुर्रानाऊंटबलबलाना
उल्लूघुघुआनाकीड़ेबिलबिलाना
चिड़ियाचहचहानामक्खियाँभिनभिनाना
कुत्ताभौंकनागधारेंकना
गायरंभानाघोड़ाहिनहिनाता
बकरी / भेड़मिमियानासियारहुआ हुआ करना
बिल्लीम्याऊँ म्याऊँ करना

(ख) वस्तुओं की ध्वनि के आधार पर

वस्तुध्वनिवस्तुध्वनि
दाँतकटकटानाजूतेचरमराना
दरवाजाखटखटानाझरनाझर-झर करना
पत्ताखड़खड़ानाघड़ीटिक्-टिक् करना
चूड़ियाँखनखनानाबरतनठनठनाना
बादलगड़गड़ाना / घुमडना/ गरजनाबंदूकदनदनाना
पायलछनछनानादिलधड़कना
लकड़ीचटचटानापीठथपथपाना
पंखफड़फड़ानाहवासनसनाना

(ग) दृश्य के अनुकरण के आधार पर

बिजली – चमकना

नाव – डगमगाना

धूप – चिलचिलाना

जीभ – लपलपाना

तारे – झिलमिलाना

खेत – लहलहाना

दीपक – टिमटिमाना

Leave a Comment