250+ Words Short Essay on Cow in Hindi for Class 6,7,8,9, and 10

गाय पर निबंध

परिचय

गाय विश्व के लगभग सभी भागों में पाई जाती है। वे बहुत उपयोगी घरेलू जानवर हैं। हर बच्चे को गाय का दूध पिलाया जाता है। इसलिए, गाय एक प्रसिद्ध चौगुना जानवर है।

विवरण

गाय कई रंगों में पाई जाती है, जैसे सफेद, काला और लाल। कुछ मिश्रित रंग के होते हैं। गाय न छोटी होती है और न ही बहुत बड़ी। गाय का शरीर भारी होता है। उसके सिर पर दो सींग हैं। सींग घुमावदार या सीधे और नुकीले होते हैं। गाय का चेहरा लम्बा होता है। उसकी दो आंखें हैं।

उसकी आँखें काली और अभिव्यंजक हैं। उसके ऊपरी जबड़े पर कोई दांत नहीं है। उसके निचले जबड़े पर आठ दांत होते हैं। उसकी एक लंबी पूंछ है। उसकी पूंछ पतली और संकरी है। उसकी पूंछ के अंत में बालों का एक गुच्छा होता है।

गाय के चार पैरों के सिरे पर चार खुर होते हैं। प्रत्येक खुर दो भागों में विभाजित है। उसके पिछले पैरों के बीच एक थन है। उसका शरीर फर से ढका हुआ है। उसका पेट चार भागों में बंटा हुआ है। तो उसे चारा चराना पड़ता है और पाला चबाना पड़ता है।

हरी घास गाय के लिए सबसे प्राकृतिक भोजन है। इसके अलावा, वह पुआल, घास, पत्ते और अनाज खाती है। वह पानी, चावल का पानी और घी पीती है।

उपयोगिता

-गाय इतनी उपयोगी है कि भारत में हिंदू उसे गाय, मां कहते हैं। वे उसे देवी के रूप में पूजते हैं। उसका दूध बहुत पौष्टिक होता है। यह बच्चों के लिए भोजन और बीमारों के लिए आहार है। उसका दूध दही, पनीर, मक्खन और घी में बनाया जाता है।

उसके दूध की मलाई अच्छी है। उसके दूध उत्पादों से कई तरह की मिठाइयाँ बनाई जाती हैं। उसका गोबर फसलों के लिए एक समृद्ध खाद है। उसके पेशाब से दवा बनती है। जब एक गाय मर जाती है, तो उसके सींगों को कंघे, होल्डर और खेल-कूद के सामान बना दिया जाता है।

 उसके खुरों को गोंद में बनाया जाता है। उसकी त्वचा पर टैन किया जाता है और जूते और कई अन्य चीजें बनाई जाती हैं। उसकी हड्डियों से खाद बनती है जिसे अस्थि-भोजन कहते हैं।

निष्कर्ष

हमें गाय की देखभाल करनी चाहिए। हमें उसके शेड को साफ सुथरा रखना चाहिए। हमें उसे ठीक से खाना खिलाना चाहिए। हमें उसका आभारी होना चाहिए। हमें गाय को कभी भी वध के लिए नहीं बेचना चाहिए। क्योंकि वह हमारे जीवन की रक्षक है।



Leave a Comment